हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • पंतनगर की मीना पाण्डे को मिला शिक्षा शिरोमणि सम्मान
  • शांतिपुरी में हंस फाउण्डेशन ने किया 86 लोगों का उपचार
  • सीएबीएम का सात दिवसीय आॅनलाइन इंडक्शन प्रोग्राम संपन्न
  • पंतनगर की डाॅ. राधा वाल्मीकि को शिक्षा शिरोमणि सम्मान
  • पंतनगर की डाॅ. राधा वाल्मीकि को शिक्षा शिरोमणि सम्मान
  • डाॅ. केसरवानी को सर्वश्रेष्ठ शिक्षक सम्मान

उत्तराखंड का यह लोकगीत उतरा लोगों के दिलों में- रमेश भट्ट की आवाज ने जीता लोगो का दिल- आप भी सुनिए-

उत्तराखंड का यह लोकगीत उतरा लोगों के दिलों में- रमेश भट्ट की आवाज ने जीता लोगो का दिल- आप भी सुनिए-

Dehradun News-उत्तराखंड के इस लोकगीत में न सिर्फ आपको लोक गायक गोपाल बाबू गोस्वामी की याद आएगी बल्कि उत्तराखंड के प्राकृतिक सौंदर्य भी भरपूर नज़र आएगा। यह की पहली बार देखने पर ही आपके दिल और जेहन में उतर जाएगा क्योंकि इसे बनाया ही इस तरह है। इस गीत को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मीडिया सलाहकार रमेश भट्ट द्वारा गाए गए उत्तराखंडी वीडियो गीत "जै जै हो देवभूमि "को रिलीज किया। यह गीत ...  और भी...
केदारनाथ धाम के कपाट हुए बंद, अब यहां होंगे बाबा भोलेनाथ के दर्शन-

केदारनाथ धाम के कपाट हुए बंद, अब यहां होंगे बाबा भोलेनाथ के दर्शन-

केदारनाथ (तारा जोशी) - ग्यारहवें ज्योर्तलिंग बाबा केदार के कपाट शीतकाल के लिए आज हो गए हैं बन्द।  विधिविधान व पूर्जा अर्चना के  आज भैयादूज के अवसर पर प्रातः 8.30 हुए कपाट बन्द,इस वर्ष  बाबा केदारनाथ में रिकार्ड 9,94,701 तीर्थयात्रीयों ने  दर्शन किये ,बीते वर्ष 2018 में बाबा केदार के दरबार में 7,32,241 तीर्थयात्रीयों ने टेका मत्था ,बाबा केदार में तीर्थयात्रीयों की संख्या मे...  और भी...
आज से पितृ पक्ष हो रहे हैं शुरू

आज से पितृ पक्ष हो रहे हैं शुरू

 मंगलवार यानी आज से पितृ पक्ष शुरू हो रहे हैं।हिन्दू धर्म में मृत्यु के बाद श्राद्ध करना बेहद जरूरी माना जाता है। मान्यतानुसार अगर किसी मनुष्य का विधिपूर्वक श्राद्ध और तर्पण ना किया जाए तो उसे इस लोक से मुक्ति नहीं मिलती और वह भूत के रूप में इस संसार में ही रह जाता है।   19 सितंबर को अमावस्या एवं चतुर्दशी का श्राद्ध होगा। जबकि अन्य श्राद्ध क्रम से ही होंगे। ज्योतिषों के अनुसार अपरा...  और भी...
आठूं पर्व की धूम मची

आठूं पर्व की धूम मची

काशीपुर में सातूं-आठूं पर्व की धूम मची हुई है। इस दौरान पर्वतीय समाज के लोगों ने गौरा-महेश्वर की पूजा अर्चना की। बताया कि गौरा-महेश्वर को बेटी-दामाद के रूप में महिलाएं पूजती हैं। देवभूमि पर्वतीय महासभा की ओर से वैशाली कालोनी में सातूं आठूं पर्व शुरू हो गया। भाद्रपद मास में अमुक्ताभरण सप्तमी को सातूं और दूर्बाष्टमी को आठूं का लोकपर्व मनाकर गौरा-महेश के विवाह की रस्में निभाई जाती है। उत्तराखंड में क...  और भी...

आप का कोना