हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • शांतिपुरी में दिनदहाड़े मंदिर समेत तीन घरों में हुई चोरी
  • शांतिपुरी में 10वीं में दीपक व 12वीं में काजल ने किया विद्यालय टाप
  • शांतिपुरी में ग्रामीण महिलाओं ने चलाया सफाई अभियान
  • युवा कार्यकर्ता बिजेन्द्र ने आंगनबाड़ी को दो पंखे भेंट किये
  • सरस्वती बिहार इण्टरकालेज शांतिपुरी में हुआ पोंधारोपण
  • कांग्रेसियों ने शांतिपुरी की क्षतिग्रस्त सड़कों में धरना दिया

ख़बरें विस्‍तार से

एक्सक्लुसिव :- अजय भट्ट का ये अंदाज़ है बड़ा निराला

  Publish Date: Aug 23 2019 12:25PM IST
टैग्स:

एक्सक्लुसिव :- अजय भट्ट का ये अंदाज़ है बड़ा निराला

ग्लोबल लाइव न्यूज़ डेस्क- हाल ही में देश की संसद में चर्चाओं में लगातार भाग लेने वाले नैनीताल ऊधमसिंह नगर लोकसभा के सांसद अजय भट्ट खासे लोकप्रिय होते जा रहे हैं, खासकर सांसद बनने के बाद अजय भट्ट देश की संसद में लगातार हो रही चर्चा में भाग लेकर अपने भाषणों से लोगों को आकर्षित कर  कई नेताओं में उभर कर सामने आए हैं, 

अजय भट्ट का निराला अंदाज- 

अपने भाषणों को लेकर  अक्सर चर्चा में रहने वाले अजय भट्ट  का एक  निराला अंदाज  भी है  जो उन्हें खासा लोकप्रिय कर रहा है। उनका एक अंदाज जो सबसे निराला है वह है स्कूली बच्चों से उनका लगाव, अजय भट्ट अक्सर राह चलते चलते जहां भी स्कूली बच्चे मिलते हैं वहां अपनी गाड़ी रोक उनसे बातें करते हैं स्कूली बच्चों से उनका लगाव बेहद चर्चित हो रहा है खासकर अजय भट्ट की अपनी संसदीय क्षेत्र में वह जहां भी भ्रमण को जाते हैं बच्चों से जरूर मिलते हैं 22 अगस्त को भी अजय भट्ट की कुछ ऐसी ही तस्वीर देखने को मिली अजय भट्ट अपने नैनीताल संसदीय क्षेत्र के हैडाखान क्षेत्र में जा रहे थे, जहां पर भी रस्ते में स्कूली छात्र-छात्राएं मिलते अजय भट्ट अपना काफिला रोक कर उनसे बात करते। यही नहीं अजय भट्ट का काफिला इसके चलते एक घंटे से अधिक लेट भी हुआ। लेकिन अजय भट्ट हर मोड़ हर चौराहे पर जहां पर भी छात्र-छात्राएं या छोटे बच्चे मिलते उनसे मिलते और बड़े प्यार दुलार से उनको अपना परिचय देते ।

कुमाउनी भाषा में बच्चों से बात करते हैं अजय भट्ट-

अजय भट्ट को जहां पर भी स्कूली बच्चे मिलते वह अपना काफिला रोककर उनसे कुमाऊनी भाषा में बात करते अजय भट्ट बच्चों से कहते है " मैर नाम अजय भट्ट छु , नानतिनो में तुमर सांसद छू, घर जा बेर आपुन ईजा बाज्यू है कया कि आज हमन हमर संसद दगड भेंट की,  और जैस ले परिस्थिति होलयी नानतिनो तुम खूब मन लगा बेर पढ़ाई करिया हा, ठुल आदिम बढ़िया" अजय भट्ट के यह बोल बच्चों को अपनी ओर बड़े आत्मीयता से आकर्षित करते दिखाई दिए। बच्चे भी यह देखकर बेहद खुश नजर आते हैं कि इतने बड़े काफिले में एक अनजान व्यक्ति रुकता है और उनसे हाथ मिलाता है और अपना परिचय देते हुए कुमाऊनी भाषा में बात कर कर उन्हें प्रोत्साहित करता है।

जनता और बच्चों के बीच में लोकप्रिय होने की कला-

अजय भट्ट को जनता और बच्चों के बीच में लोकप्रिय होने की कला में महारत हासिल है, लोकसभा चुनाव के कैंपेन के दौरान भी अजय भट्ट ने प्रत्येक जनसभा को कुमाऊनी भाषा में संबोधित किया था पहली बार लोकसभा चुनाव में उतरने के बावजूद अजय भट्ट ने प्रदेश में सबसे ज्यादा साढे तीन लाख से अधिक वोटों से पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को हराया, यही वजह है कि अजय भट्ट जब भी कुमाऊं क्षेत्र के भ्रमण में होते हैं तो कुमाऊनी भाषा का प्रयोग ही करते हैं जिससे वह लोगों को अपनी ओर आकर्षित करने में सफल होते हैं और बच्चों के प्रति उनके प्रेम और लगाव ने उनको फिर से एक बार खासा चर्चित किया है।

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना