हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • स्लो वैक्सीनेशन व पीपीई किट को लेकी प्रधानों ने जतायी नाराजगी
  • शांतिपुरी में प्रधानों ने कराया गांवों को सेनिटाइज
  • फरियादियों से मिलने का अंदाज एन डी तिवारी जैसा है तीरथ का
  • क्या आप चाहते है स्वस्थ और निरोगी दांत ? तो जानिए डेंटिस्ट डॉ. स्वाती सिंघल की ये सलाह : -
  • आख़िर क्या है वैक्सीन का सफर ? ज्योति आर्या की रिपोर्ट
  • हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. भूपेंद्र सिंह बिष्ट की सलाह :

ख़बरें विस्‍तार से

देहरादून - क्यों हुए 300 शिक्षकों के तबादले रद्द, पढ़ने के लिए क्लिक करिए--

  Publish Date: Sep 17 2019 6:46AM IST
टैग्स:

देहरादून - पिछली कांग्रेस सरकार के समय चुनावी वर्ष में नए फार्मूले के तहत प्रदेश भर में 500 से ज्यादा शिक्षकों के तबादले किए गए थे इनमें से कई शिक्षक वास्तव में दंपत्ति नीति और गंभीर बीमारी के चलते तबादले के पात्र थे, जबकि कई शिक्षकों ने अपनी राजनीतिक पहुंच का इस्तेमाल करते हुए अपनी तैनाती सुगम क्षेत्रों में पा ली थी, भाजपा सरकार सत्ता में आते ही सरकार ने इन शिक्षकों को वापस भेजने का तुरंत निर्णय लिया था लेकिन मामला हाईकोर्ट में चला गया इसलिए सरकार को बैकफुट में आना पड़ा पर अब याचिका निरस्त हो जाने के बाद सरकार ने 300 शिक्षकों के तबादले रद्द करते हुए उन्हें मूल तैनाती वाले स्कूलों में भेजने के निर्देश दिए हैं।

 

 


शिक्षकों के प्रमाण पत्रों की जांच को कमेटी बनेगी--

तत्कालीन कांग्रेस सरकार में अपने तबादले के लिए पात्रता दर्शाते हुए जमा किए गए दस्तावेजों के जांच के लिए अब सरकार जांच कमेटी गठित करेगी यदि शिक्षकों के प्रमाण पत्रों में गड़बड़ी मिली तो उन शिक्षकों को भी वापस लौटाया जाएगा और उनके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने सचिव शिक्षा आर मीनाक्षी सुंदरम को इस बाबत निर्देश भी दिए हैं।

 

 

केवल गंभीर रूप से बीमार शिक्षकों को मिलेगी राहत--

शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के आदेश में स्पष्ट कहा गया है हाईकोर्ट भी शिक्षकों को उनके मूल स्कूल भेजने के आदेश दे चुका है अब सिर्फ गंभीर रूप से बीमार शिक्षकों को ही इसमें राहत दी जाए क्योंकि प्रदेश में स्कूलों में शिक्षकों की काफी कमी है और लंबे समय तक ऐसे शिक्षकों को उनके मूल स्कूल से दूर रही रखा जा सकता लिहाजा 300 संभावित शिक्षकों की तैनाती उनके मूल स्कूल में कर दी जाए।

 

Image may contain: text and outdoor

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना