हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • शांतिपुरी में दिनदहाड़े मंदिर समेत तीन घरों में हुई चोरी
  • शांतिपुरी में 10वीं में दीपक व 12वीं में काजल ने किया विद्यालय टाप
  • शांतिपुरी में ग्रामीण महिलाओं ने चलाया सफाई अभियान
  • युवा कार्यकर्ता बिजेन्द्र ने आंगनबाड़ी को दो पंखे भेंट किये
  • सरस्वती बिहार इण्टरकालेज शांतिपुरी में हुआ पोंधारोपण
  • कांग्रेसियों ने शांतिपुरी की क्षतिग्रस्त सड़कों में धरना दिया

ख़बरें विस्‍तार से

देवदूत बनी उत्तराखंड पुलिस आखिर कैसे बचाया छत्तीसगढ़ से आए श्रद्धालुओं को ? जानने के लिए क्लिक करें-

  Publish Date: Sep 30 2019 8:23PM IST
टैग्स:

(तारा जोशी) उत्तराखंड की मित्र पुलिस ने देवदूत का रोल निभाते हुए बद्रीनाथ से 10 किलोमीटर दूर नीलकंठ ट्रैकिंग मार्ग पर 3 घंटे के रेस्क्यू कर फंसे यात्री को सकुशल बाहर निकाला, दरअसल छत्तीसगढ़ से यह यात्री बद्रीनाथ के दर्शन करने के लिए आए हुए थे, लेकिन कुछ यात्रियों द्वारा यह बताया गया कि उनका एक साथी नीलकंठ ट्रैकिंग रूट पर फंसा हुआ है और उससे मोबाइल से भी कोई संपर्क नहीं हो पा रहा है, अंधेरा होने के कारण वह ट्रैक रूट पर ही फस गया है, यात्रियों की इस सूचना पर एसडीआरएफ और थाना पुलिस की एक टीम मौके के लिए रवाना हुई, अत्याधिक ठंड और तेज बरसात होने के बावजूद एसडीआरएफ, थाना पुलिस ने रेस्क्यू कर ट्रैकिंग रूट पर फंसे यात्री को सकुशल निकाला और उसे फर्स्ट एड देने के बाद बद्रीनाथ लाया गया।

Image

मित्र पुलिस को श्रीकांत गुप्ता ने कहा थैंक यू सो मच- 


 श्रीकांत गुप्ता नाम के इस श्रद्धालु के लिए उत्तराखंड की मित्र पुलिस किसी भगवान से कम साबित नहीं हुई, छत्तीसगढ़ के तहसील पाटन, जिला दुर्ग और गांव गाढ़ाडीह का रहने वाला श्रीकांत गुप्ता मित्र पुलिस को जान बचाने के लिए धन्यवाद कहता नहीं थक रहा है

Image

 

मित्र पुलिस ने दिया देश भर में सुरक्षा का संदेश-

छत्तीसगढ़ के यात्री श्रीकांत गुप्ता के रेस्क्यू के बाद उत्तराखंड की मित्र पुलिस इस बात का संदेश देने में कामयाब रही कि यात्रियों की सुरक्षा के लिए उत्तराखंड की पुलिस सदैव तत्पर है। और उत्तराखंड में आप खुद को सुरक्षित महसूस कर सकते हैं।

Image

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना