हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • फरियादियों से मिलने का अंदाज एन डी तिवारी जैसा है तीरथ का
  • क्या आप चाहते है स्वस्थ और निरोगी दांत ? तो जानिए डेंटिस्ट डॉ. स्वाती सिंघल की ये सलाह : -
  • आख़िर क्या है वैक्सीन का सफर ? ज्योति आर्या की रिपोर्ट
  • हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. भूपेंद्र सिंह बिष्ट की सलाह :
  • जवाहरनगर में राष्ट्रीय मशरूम दिवस पर कार्यशाला आयोजित
  • जानिए कोरोना में डॉ गौरव सिंघल की सलाह:

ख़बरें विस्‍तार से

शेयर मार्केट में पहली बार ऐसा हुआ, 67.85 अंको की तेजी के साथ 9,513 के स्तर पर कारोबार

  Publish Date: May 16 2017 3:26PM IST
टैग्स:

दिल्ली। एनएसई का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी पहली बार 9,500 अंक के पार पहुंचने में कामयाब हुआ है। 2.30 बजे निफ्टी 67.85 अंको की तेजी के साथ 9,513 के स्तर पर कारोबार करता नजर आया। मार्केट एक्सपर्ट्स के मुताबिक मजबूत ग्लोबल संकेत, अच्छा माइक्रो-इकोनॉमिक डाटा और सामान्य मानसून की उम्मीद से भारतीय बाजार रिकॉर्ड ऊंचाई पर पहुंच गए हैं।
बाजार के जानकारों का दावा है कि सोमवार को अमेरिकी बाजार के रिकॉर्ड स्तर पर बंद होने और मंगलवार सुबह एशियाई बाजारों के हरे निशान में कारोबार शुरू होने के असर से भारतीय बाजार में सेंसेक्स और निफ्टी पर जोरदार खरीदारी देखने को मिली.

पहले घंटे के कारोबार में सेंसेक्स ने 122 अंकों की उछाल के साथ 30,513 के स्तर को छू लिया. शेयरों में तेजी आईटी कंपनियों के शेयर में अच्छी खरीदारी के चलते देखने को मिली, शुरुआती कारोबार में भारती एयरटेल, टीसीएस, रिलायंस, विप्रो और टाटा मोटर्स के शेयर में तेजी देखी गई.

सूत्रों के मुताविक कच्चे तेल की कीमतों पर एक बार फिर रूस और साउदी अरब के रुख से अमेरिकी बाजार में जारी तेजी का असर दुनियाभर के बाजारों में देखने को मिल रहा है. वॉल स्ट्रीट पर शानदार सोमवार के बाद मंगलवार सुबह एशियाई बाजार दो साल के उच्चतम स्तर पर पहुंत कर कारोबार करने लगे. रूस और साउदी अरब ने बयान जारी किया है कि कच्चे तेल की सप्लाई में कटौती को वह 2018 तक जारी रखने के पक्ष में है.

पिछले सप्ताह मुद्रास्फीति के आंकड़े नीचे आने के बाद सोमवार को बंबई शेयर बाजार का सेंसेक्स 30,322 अंक की नई उंचाई पर पहुंच गया था. नेशनल स्टाक एक्सचेंज का निफ्टी भी पीछे नहीं रहा और इसने भी 9,445 अंक पर बंद होकर नया रिकार्ड कायम किया.

बाजार ने रैमसनवेयर वायरस के हमले के संभावित असर को भी नजरअंदाज किया. कंपनियों के उम्मीद से बेहतर तिमाही नतीजों से भी बाजार में तेजी आई थी. अप्रैल में खुदरा मुद्रास्फीति कई साल के निचले स्तर 2.99 फीसदी पर आ गई. इससे निवेशकों की धारणा को बल मिला. वहीं थोक मूल्य सूचकांक आधारित मुद्रास्फीति भी अप्रैल में चार महीने के निचले स्तर 3.85 फीसदी पर आ गई.

इससे आगामी महीनों में रिजर्व बैंक द्वारा ब्याज दरां में कटौती की गुंजाइश बनी है. बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स 133.97 अंक या 0.44 फीसदी के लाभ से 30,322.12 अंक के नए रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ. इससे पहले 11 मई को सेंसेक्स 30,250.98 अंक के रिकार्ड पर बंद हुआ था

 

 

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना