हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • फरियादियों से मिलने का अंदाज एन डी तिवारी जैसा है तीरथ का
  • क्या आप चाहते है स्वस्थ और निरोगी दांत ? तो जानिए डेंटिस्ट डॉ. स्वाती सिंघल की ये सलाह : -
  • आख़िर क्या है वैक्सीन का सफर ? ज्योति आर्या की रिपोर्ट
  • हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. भूपेंद्र सिंह बिष्ट की सलाह :
  • जवाहरनगर में राष्ट्रीय मशरूम दिवस पर कार्यशाला आयोजित
  • जानिए कोरोना में डॉ गौरव सिंघल की सलाह:

ख़बरें विस्‍तार से

थाइरॉएड कैंसर से महिलाएं हैं ज्यादा पीड़ित

  Publish Date: May 20 2017 12:34PM IST
टैग्स:

थाइरॉएड कैंसर बहुत धीमी गति से होने वाला रोग हैं।। इसका ज्यादातर असर महिलाओं में देखा जा रहा हैं। इस रोग की पहचान आसानी से नहीं होती हैं।  जब थाइरॉएड ग्रंथि की सामान्य कोशिकाएं अनिमियता आने के कारण बढ़ने और फैलने लगती हैं,तो इसे थाइरॉएड कैंसर कहते हैं। ये रोग कई प्रकार के होते हैं।

जैसे-पैपिलरी थाइरॉएड कैंसर, फॉलिम्यूलर थाइरॉएड कैंसर,मेडयूलरी थाइरॉएड कैंसर,एनाप्लास्टिक कार्सिनोमा और थाइरॉएड लिफोमा आदि नाम के कैंसर हैं। इस रोग में निम्न परेशानिया होती हैं जैसे- बोलने  में दिक्कत्, आवाज बैठना, सांस लेने में परेशानी, सूजन होना, गर्दन का आकार बढ़ना आदि समस्याओं का होना।

थाइरॉएड कैंसर से बचने के 98 प्रतिशत चान्स हैं। जिसमें इसका सबसे बेहतरीन उपचार सर्जरी हैं, इसमें थाइरॉएड ग्रंथि को हटा दिया जाता हैं। इसके अलावा रेडियोएक्टिव आयोडीन, थाइरॉएड हारमोन एक्सटनल बीम, रेडिएशन थेरेपी आदि विधियो से इसका उपचार किया जा सकता हैं।

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना