हेल्पलाइन: +91-956 852 4734
  • Breaking News

ताज़ा
खबरे

  • स्लो वैक्सीनेशन व पीपीई किट को लेकी प्रधानों ने जतायी नाराजगी
  • शांतिपुरी में प्रधानों ने कराया गांवों को सेनिटाइज
  • फरियादियों से मिलने का अंदाज एन डी तिवारी जैसा है तीरथ का
  • क्या आप चाहते है स्वस्थ और निरोगी दांत ? तो जानिए डेंटिस्ट डॉ. स्वाती सिंघल की ये सलाह : -
  • आख़िर क्या है वैक्सीन का सफर ? ज्योति आर्या की रिपोर्ट
  • हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉ. भूपेंद्र सिंह बिष्ट की सलाह :

ख़बरें विस्‍तार से

स्लो वैक्सीनेशन व पीपीई किट को लेकी प्रधानों ने जतायी नाराजगी

  Publish Date: May 3 2021 4:52PM IST
टैग्स:


           प्रधानों ने कहा जिम्मेदारियों के साथ अतिरिक्त कोविड फंड नहीं दे रही सरकार
           शांतिपुरी-
            शांतिपुरी व जवाहरनगर क्षेत्र में बीते दो दिनों ने कोविड वैक्सीनेशन का काम ठप पड़ा हुआ है। जिससे नाराज ग्रामप्रधान चंद्रकला बिशन कोरंगा ने इसके लिए जिलाप्रशासन व प्रदेश सरकार को दोषी ठहराया है।
             प्रधान चंद्रकला कोरंगा ने बताया कि बीते सप्ताह एसडीएम नरेश दुर्गापाल व चिकित्सा अधीक्षयक एचसी त्रिपाठी ने एक मई से 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन कराने के लिए पीएचसी शांतिपुरी में एक समीक्षा बैठक की थी। जिसमें उन्होंने टीकारण में तेजी लाने के लिए वक्सीनेशन सेंटरों पर प्रधानों व सीएससी कार्यकर्ताओं से जरुरी व्यवस्थायें जुटा कर वैक्सीनेशन में सहयोग करने की बात कही थी। जिसके तुरंत बाद ग्राम प्रधानों ने जवाहरनगर, शांतिपुरी नंबर एक व प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र शांतिपुरी में टेंट, सेनीटाइजर एवं पीने के पानी की व्यवस्थायें करने के साथी ही अपने-अपने गांवों में स्प्रे करवा कर सेनिटाइजेशन करवाया। लेकिन तभी अचानक न केवल वैक्सीन के अभाव में टीकाकरण लगातार दो दिनों तक बंद रहा बल्कि सरकार ने 18 से 44 वर्ष आयुवर्ग के लोगों के वैक्सीनेशन पर भी रोक लगा दी है। प्रधान दीपा काण्डपाल व प्रधान विमला जोशी ने आरोप लगाया कि जिलाप्रशासन वैक्सीनेशन समेत कोविड से जुड़ी तमाम जिमेदारियां प्रधानों को दे रही है। लेकिन प्रधानों को ना तो कोरोना वॉरियर्स का सम्मान दे रही है और ना ही संसाधन जुटाने के लिए को अतिरिक्त बजट दे रही है। जिससे उन्हें लगातार संक्रमण होने का खतरा बना हुआ है।   
           

रिपोर्टर

अगली प्रमुख खबरे

आप का कोना